Subscribe now to access pointwise, categorized & easy to understand notes on 483 key topics of CBSE-NET (UGC) Hindi Literature (Paper-II & Paper-III) covering entire 2017 syllabus. All the updates for one year are also included. View Features or .

Rs. 450.00 or

अपभ्रंश व पुरानी हिन्दी में अंतर

स्वर थे-

  • अपभ्रंश में पाए जाने वाले स्वर-
  1. हस्व-अ, इ, उ, एं, औ
  2. दीर्घ-आ, ई, ऊ, ए, ओ
  3. ऐ औ नहीं मिलते
  4. आरम्भिक हिन्दी में निम्नलिखित स्वर हैं
  5. अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, एं, ऐ, ऑ, ओ, औ
  6. इनमें हस्व-अ, इ, उ, एं, औ हैं और दीर्घ-आ, ई, ऊ, ए, ओ हैं।
  • च, छ, ज, आदि अपभ्रंश में स्पर्श व्यंजन थे, किन्तु हिन्दी में आकर स्पर्श-संघर्षी हो गए है।… (170 more words) …

Subscribe & login to view complete study material.

f Page
Sign In