World History [IAS (Admin.) IAS Mains GS Paper 1 in Hindi (Geography, Art & Culture, and History)]: Questions 8 - 14 of 20

Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 640 questions. Access all new questions- tracking exam pattern and syllabus. View the complete topic-wise distribution of questions. Unlimited Access, Unlimited Time, on Unlimited Devices!

View Sample Explanation or View Features.

Rs. 750.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

Question 8

Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

विश्व में घटित कौन सी मुख्य रणनीतिक, आर्थिक और सामाजिक गतिविधियों ने भारत में उपनिवेश विरोधी संघर्षो को प्रेरित किया?

Explanation

यूरोप में हुए औधोगिक क्रांति तथा इससे उत्पन्न व्यापारिक गतिविधियों के वैश्विक परिणामो के फ़लस्वरूप उपनिवेश शासन की अवधारणा आयी। इस अवधारणा का मुख्य उदेश्य मातृदेश के हितो की रक्षा थी।भारत को भी ब्रिटेन ने अपना उपनिवेश यही उदेश्यो से बनाया था। भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के कई चरणों के बाद जाकर भारत को स्वतंत्रता मिली। भारतीय उपनिवेश विरोधी संघर्ष को प्

… (2 more words) …

Question 9

World History
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

लेनिन की नव आर्थिक नीति-1921 ने स्वतन्त्रता के पश्चात् भारत द्वारा अपनाई गयी नीतिओं को प्रभावित किया था। मूल्यांकन कीजिए।

Explanation

  • 1917 में लेनिन ने उत्पादन के सारे साधनों का राष्ट्रीयकरण कर दिया किन्तु बहुत से उद्योग धंधों में उत्पादन बढ़ने की बजाय घटने लगा, कृषि उत्पादन भी आधा ही रह गया था तथा आवश्यक वस्तुओं की भारी कमी हुई। इन भीषण परिस्थितियों से निपटने के लिए लेनिन ने 1921 ई. में एक नई आर्थिक नीति अपनाई जिसे ‘नई आर्थिक नीति’ कहा जाता है। यह आर्थिक नीति मार्क्सवादी सिद्धां

… (5 more words) …

Question 10

Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

वर्ष 1956 में स्वेज संकट को पैदा करने वाली घटनाएं क्या थी? उसने एक विश्व शक्ति के रूप में ब्रिटेन की आत्म-छवि पर किस प्रकार अंतिम प्रहार किया?

Explanation

  • स्वेज नहर लकी भौगोलिक अवस्थिति लाल सागर और भूमध्य सागर को संबंद्ध करने वाली एक नहर है। अपनी विशिष्ट भौगोलिक स्थिति के कारण यह नहर आर्थिक और राजनीतिक दृष्टि से विश्व में महत्वपूर्ण नहर है। 1956 के पहले इस नहर का प्रबंधन स्वेज नहर कम्पनी करती थी जिसका शेयर ब्रिटेन और फ़्रांस के पास था। अपने औपनिवशिक संतुलन के लिए अंग्रेजो ने इसका इस्तेमाल अपने पक्ष मे

… (2 more words) …

Question 11

World History
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

किन प्रकारो से नौसैनिक विद्रोह भारत में अंग्रेजो की औपनिवेशिक महत्वकांक्षाओं की शव-पेटिका में लगी अंतिम कील साबित हुई थी?

Explanation

  • भारत की आजादी के ठीक पहले मुंबई में रायल इण्डियन नेवी के सैनिकों द्वारा पहले एक पूर्ण हड़ताल की गयी और उसके बाद खुला विद्रोह भी हुआ। इसे ही नौ सेना विद्रोह के नाम से जाना जाता है। यह विद्रोह 18 फ़रवरी सन् 1946 को हुआ जो कि जलयान में और समुद्र से बाहर स्थित जलसेना के ठिकानों पर भी हुआ। यद्यपि यह मुम्बई में आरम्भ हुआ किन्तु करांची से लेकर कोलकता तक इस

… (1 more words) …

Question 12

World History
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

भारत में 18वी शताब्दी के मध्य से स्वतन्त्रता तक अंग्रेजो की आर्थिक नीतियों के विभिन पक्षों का समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए।

Explanation

  • भारत में अंग्रेजी सत्ता की स्थापना ने न केवल सामाजिक-राजनीतिक जीवन को प्रभावित किया, बल्कि भारत की अर्थव्यवस्था भी इससे बुरी तरह से प्रभावित हुई। अंग्रेजी आर्थिक नीतियों के परिणामस्वरूप एक तरफ भारत की सम्पदा का निष्कासन हुआ, परम्परागत उधोग-धंधे का विनाश हुआ तो दूसरी तरफ नई भूमि-व्यवस्था कायम की गयी, संचार एवं परिवहन के साधनो और नए उधोग-धंधो का विका

… (1 more words) …

Question 13

Edit

Describe in Detail

Essay▾

भारतीय रजवाड़ों को ‘तूफान में तरंग रोध’ मामने की लार्ड केनिंग की नीति को अंग्रेजों ने किस प्रकार चित्रित किया?

Explanation

  • भारतीय रजवाड़ों के प्रति अंग्रेजो की नीति ब्रिटिश साम्राज्य की नीति के एक अंग के रूप में रही। 1857 के संघर्ष में अनेक भारतीय रजवाड़ों ने अंग्रेजों का साथ दिया था। बड़ौदा, ग्वालियर, हैदराबाद और जींद के शासकों ने पूरी तरह से अंग्रेजों की मदद की थी।
  • ब्रिटिश सरकार इस व्यवस्था को कायम रखना चाहती थी। इसलिए ब्रिटिश सरकार ने उन्हें अपने एक हितैषी के रूप में खड़

… (1 more words) …

Question 14

World History
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

सूफ़ी और मध्यकालीन रहस्यवादी सिद्ध पुरुष (संत) हिन्दू/मुसलमान समाजो के धार्मिक विचारों और रीतियों को या उनकी बाह्य संरचना को पर्याप्त सिमा तक रूपांतरित करने में विफल रहे टिप्पणी कीजिए।

Explanation

  • संतों तथा सूफियों से जो भक्ति एवं सूफी आंदोलन आरम्भ हुआ उनसे मध्य भरत के सामाजिक एवं धार्मिक जीवन में एक नविन शक्ति एवं गतिशीलता का संचार हुआ। भक्ति आंदोलन के परिणाम में प्रमुख थे -भक्ति के प्रति आस्था का विकास, लोकभाषा में साहित्य-रचना का आरम्भ, इस्लाम के साथ सहयोग के परिणामस्वरूप सहिष्णुता की भावना का विकास, जिसकी वजह से जाती-व्यवस्था के बंधनो मे

… (6 more words) …