Modern Indian History-Issues [IAS (Admin.) IAS Mains GS Paper 1 in Hindi (Geography, Art & Culture, and History)]: Questions 16 - 21 of 24

Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 640 questions. Access all new questions- tracking exam pattern and syllabus. View the complete topic-wise distribution of questions. Unlimited Access, Unlimited Time, on Unlimited Devices!

View Sample Explanation or View Features.

Rs. 750.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

Question 16

Edit

Appeared in Year: 2008

Describe in Detail

Essay▾

ब्रिटिश भारत में नव सामाजिक वर्गो का उद्भव नव सामाजिक अर्थव्यवस्था, नव राज्य तंत्र, प्रशासन तंत्र और पश्चिमी शिक्षा के स्थापना का सीधा परिणाम था। चर्चा कीजिए। (250 शब्द)

Explanation

  • भारत में ब्रिटिश साम्राज्य की स्थापना के उपरांत कई नवीन सामाजिक वर्गों का उदय हुआ। ये नवीन वर्ग थे-बुद्धिजीवी जमींदार, कृषक, मजदूर तथा नव प्रशिक्षित प्रशासक एवं अधिकारी वर्ग। ईस्ट (पूर्वी) इंडिया (भारत) कंपनी ने भारत में अपनी सत्ता की स्थापना के साथ आर्थिक क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत करनी शुरू कर दी। भारतीय भू-राजस्व पर नियंत्रण के क्रम में उसने भू-…

… (4 more words) …

Question 17

Edit

Appeared in Year: 1990

Describe in Detail

Essay▾

रॉयल (राजसी) इंडियन (भारतीय) नेवी अथवा नौसैनिक (रेटिंग्स) का विद्रोह कब और क्यों हुआ? उन्होंने इस आंदोलन को स्थगित क्यों कर दिया। इस आंदोलन के प्रति गांधी और पटेल केदृष्टिकोण क्या थे? (150 शब्दों)

Explanation

  • 18 फरवरी, 1946 को बंबई के रॉयल इंडियन नेवी के प्रशिक्षण पोत ‘तलवार’ नामक जहाज के नाविको ने खूनी बगावत आरंभ कर दी। इसके कारणों ने मुख्य रूप से युद्ध काल में नौ-सेना का विस्तार कर उसमें गैर-भारतीयों को शामिल करना था। इन गैर-भारतीयों के समक्ष अपनी दयनीय स्थिति देखकर इनमें असंतोष की भावना सुलगने लगी। नौ-सैनिक प्रजातंत्रीय विभेद की नीति से अत्यंत क्षुब्…

… (2 more words) …

Question 18

Edit

Describe in Detail

Essay▾

महारानी विक्टोरिया की घोषणा क्या थी तथा इस घोषणा के पीछे क्या उद्देश्य थे? चर्चा कीजिए (150 शब्दों में)

Explanation

  • विक्टोरिया घोषणा-पत्र का उद्देश्य भारतीय राजाओं व जनता को यह बताना था कि भारत की सत्ता महारानी के हाथों में चली गई है। इस घोषणा के पश्चात्‌ देशी रियासतों को सत्ता का दर्जा दिया गया। इससे स्वत: ब्रिटिश सरकार परमसत्ता के स्तर पर आ गई। इस घोषणा के तहत भारतीय राजाओं को उनके सीमा क्षेत्रों को ब्रिटिश साम्राज्य में न मिलाने का आश्वासन दिया गया। साथ उनकी …

… (1 more words) …

Question 19

Edit

Appeared in Year: 1999

Describe in Detail

Essay▾

″ जिसकी शुरूआत धर्म के लिए लड़ाई के रूप में हुई उसका अंत स्वतंत्रता संग्राम के लिए हुआ, क्योंकि इस बात में तनिक भी संदेह नहीं है कि विद्रोही सरकार से छुटकारा पाने और पूर्व व्यवस्था को पुन: स्थापित करने के इच्छुक थे जिसका सही प्रतिनिधि दिल्ली नरेश था। क्या आप इस दृष्टिकोण का समर्थन करते हैं? (150 शब्दों)

Explanation

  • 1857 के विद्रोह का आरंभ तात्कालिक धार्मिक कारणों से हुआ। इन कारणों में गाय व सूअर की चर्बीयुक्त कारतूस का सेना में प्रयोग किया जाना, भारतीयों को धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर करना आदि थे। 1857 का विद्रोह भारतीयों का ब्रिटिश विरोधी देशभक्तिपूर्ण परन्तु असंगठित स्वतंत्रता का प्रयास था। यह विद्रोह स्वतंत्रता संग्राम के रूप में सामने आया क्योंकि इस संग्रा…

… (6 more words) …

Question 20

Edit

Appeared in Year: 1993

Describe in Detail

Essay▾

मैकडोनाल्ड निर्णय क्या था? इसको किस प्रकार संशोधित किया गया तथा इसके क्या परिणाम हुए? (150 शब्दों)

Explanation

  • दव्तीय गोलमेज सम्मेलन के पश्चात्‌ भारतीय अल्पसंख्यक समुदाय की समस्या का आपसी समझौते से हल न हो पाने के कारण ब्रिटिश प्रधानमंत्री रैम्जे मैकडोनाल्ड ने 14 अगस्त, 1932 को अपनी प्रसिद्ध घोषणा की, जिसे मैकडोनाल्ड निर्णय कहा जाता है। इस घोषणा के अनुसार अल्पसंख्यक तथा विशेष हितों वाले संप्रदाय मुसलमान, सिक्ख, दलित वर्ग, भारतीय ईसाई, एंग्लो इंडियन (भारतीय)…

… (1 more words) …

Question 21

Edit

Appeared in Year: 1998

Describe in Detail

Essay▾

भारत के स्वतंत्रता पूर्व के दशक में देशी रियासतों के प्रजामंडल आंदोलनों का क्या महत्व था? (150 शब्दों)

Explanation

  • ब्रिटिश भारत में भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का प्रसार और लोकतंत्र, नागरिक अधिकारों तथा उत्तरदायी शासन प्रणाली के प्रति बढ़ती राजनीतिक चेतना ने देशी रियासतों की जनता को भी प्रभावित किया। सर्वप्रथम, बड़ौदा की देशी रियासत में 1920 ई. में ‘स्टेट पीपुल (लोग) कांफ्रेस’ (सम्मेलन) का गठन किया गया। इसके पश्चात्‌ सभी बड़ी देशी रियासतों में ऐसे संगठन की स्थापना हुई…

… (1 more words) …

Developed by: