Geography-Changes in Critical Geographical Features [IAS (Admin.) IAS Mains GS Paper 1 in Hindi (Geography, Art & Culture, and History)]: Questions 1 - 4 of 77

Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 640 questions. Access all new questions- tracking exam pattern and syllabus. View the complete topic-wise distribution of questions. Unlimited Access, Unlimited Time, on Unlimited Devices!

View Sample Explanation or View Features.

Rs. 750.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

Question 1

Changes in Critical Geographical Features
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

असामान्य जलवायवीय घटनाओ अधिकांश एल-नीनो के परिणाम के तुअर पर स्पष्ट की जाती है। क्या आप सहमत है?

Explanation

  • एल नीनो प्रशांत महासागर के भूमध्यीय क्षेत्र की उस समुद्री घटना का नाम है, जो दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर स्थित इक्वाडोर और पेरु देशों के तटीय समुद्री जल में कुछ सालों के अंतराल पर घटित होती है। यह समुद्र में होने वाली उथल-पुथल है और इससे समुद्र के सतही जल का ताप सामान्य से अधिक हो जाता है।
  • जब समुद्र का सतही जल ज्यादा गर्म होने लगता है तो वह सतह …

… (3224 more words) …

Question 2

Changes in Critical Geographical Features

Question

MCQ▾

महासागरीय धाराओं की उत्पत्ति के संदर्भ में निम्नलिखित कारकों पर विचार कीजिये:

1. वायु गुरुत्वाकर्षण बल

2. कोरियोलिस बल

3. सौर ऊर्जा से जल का गर्म होना

उपर्युक्त कारकों में कौन-से जल की गति को प्रारंभ करने वाले प्राथमिक बल हैं?

Choices

Choice (4)Response

a.

केवल 2 और 3

b.

1,2 और 3

c.

केवल 1 और 2

d.

केवल 1 और 3

Question 3

Changes in Critical Geographical Features

Question

MCQ▾

निम्नलिखित कारकों पर विचार कीजिये:

1. भूमिगत जल

2. प्रवाहित जल

3. वायु

4. हिमनद

उपर्युक्त कारकों में से कौन सा अपरदन की क्रिया के लिये उत्तरदायी नहीं हैं?

Choices

Choice (4)Response

a.

केवल 1,2 और 4

b.

केवल 4

c.

केवल 1 और 4

d.

None of the above

Question 4

Changes in Critical Geographical Features

Question

MCQ▾

निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

1. अर्द्धचंद्राकर आकार के टिब्बे, जिनकी भुजाएँ पवनों की दिशा के विपरीत निकली होती हैं, बरखान कहलाते है।

2. शीत और आर्द्र मरुस्थल बालू-टिब्बों के निर्माण के उपर्युक्त स्थान हैं।

3. रेतीलें धरातल जहाँ वनस्पतियाँ होती हैं, वहाँ परवलयिक बालुका-टिब्बों का निर्माण होता है।

उपर्युक्त कथनों में कौन-से सत्य हैं?

Choices

Choice (4)Response

a.

केवल 2

b.

केवल 1 और 3

c.

1,2 और 3

d.

केवल 3