Geography [IAS (Admin.) IAS Mains GS Paper 1 in Hindi (Geography, Art & Culture, and History)]: Questions 8 - 14 of 524

Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 640 questions. Access all new questions- tracking exam pattern and syllabus. View the complete topic-wise distribution of questions. Unlimited Access, Unlimited Time, on Unlimited Devices!

View Sample Explanation or View Features.

Rs. 750.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

Question 8

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

जीवाश्म ईंधन की बढ़ती कमी के कारण भारत में परमाणु ऊर्जा के महत्व अधिकाधिक बढ़ रहा है। परमाणु ऊर्जा बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल की भारत व संसार में उपलब्धता की विवेचना कीजिए।

Explanation

विकास वृद्धिदर की मांग करता है और वृद्धिदर चाहती है कि इसका आर्थिक इंजन सही दिशा में आगे बढे। इसके लिए किसी देश को ऊर्जा के बड़े स्रोतों की जरूरत होती है और भारत इस मामले में अपवाद नहीं है। भारत के लिए एक राष्ट्रिय नीति के साथ एक कल्याणकारी देश है। इसकी आर्थिक वृद्धि दर, ग्रामीण विकास, गरीबी उन्मूलन, बुनियादी शिक्षा, पर्याप्त स्वास्थ सुविधा, बढ़ती जन…

… (3 more words) …

Question 9

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

पश्चिमी घाट की नदियाँ डेल्टा नहीं बनाती | क्यों?

Explanation

  • डेल्टा प्राय: उस भूभाग को कहा जाता है, जो नदी द्वारा लाए गए अवसादों के संचयन से निर्मित हाता है। विशेषत: नदी के मुहाने पर, जहाँ वह किसी समुद्र अथवा झील में गिरती है। इस भूभाग का आकार साधारणत: त्रिभुज जैसा होता है | डेल्टा का निर्माण तथा इसका विस्तार मुख्यत: सागर अथवा झील में प्रवाहित धाराओं के वेग पर निर्भर है। वेगवती धाराएँ अथवा ऊँचे ज्वार, जो नदी…

… (2 more words) …

Question 10

Geography
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

क्या कारण है कि संसार का सभी वलित पर्वत तंत्र महाद्वीपों के सीमांतो के साथ-साथ अवस्थित है? वलित पर्वतो के वैश्विक वितरण और भूकम्पों एवं ज्वालामुखी के बीच साहचर्य को उजागर कीजिए।

Explanation

  • प्लेट विवर्तनिकी के सिद्धांत के आधार पर वलित पर्वतो के वैश्विक वितरण तथा भूकम्पों एवं ज्वालामुखी की व्याख्या की जा सकती है। इसके अतिरिक्त यह सिद्धांत विभिन्न प्लेटो के बीच उनके अभिसरण सिमा पर होने वाले अवक्षेपण के परिणाम को भी प्रदर्शित करता है। प्रायः महासगीरीय प्लेट और महाद्वीपीय प्लेटो के बीच पारस्परिक क्रिया के फलस्वरूप महासागरीय प्लेट का कुछ भ…

… (2149 more words) …

Question 11

Geography
Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

इंडोनेशियाई और फिलीपीनी द्वीपसमूहों में हज़ारो द्वीपों के विरचन की व्याख्या कीजिए।

Explanation

  • इंडोनेशिया और फिलीपींस द्वीप समूहों में हज़ारों द्वीपों के निर्माण को प्लेट विवर्तनिकी और ज्वालामुखी उद्गार की प्रक्रिया के द्वारा व्याख्यायित किया जा सकता है। इन द्वीपों का निर्माण टेक्टोनिक प्लेटो के अभिसरण, अपसरण के फ़लस्वरूप हुआ है। वस्तुतः जब दो समुद्री प्लेटें अभिसरण करती है तो अपेक्षाकृत सघन प्लेट का कम सघन प्लेट के निचे क्षेपण होता है। इस प्र…

… (2109 more words) …

Question 12

Edit

Appeared in Year: 2014

Describe in Detail

Essay▾

असामान्य जलवायवीय घटनाओ अधिकांश एल-नीनो के परिणाम के तुअर पर स्पष्ट की जाती है। क्या आप सहमत है?

Explanation

  • एल नीनो प्रशांत महासागर के भूमध्यीय क्षेत्र की उस समुद्री घटना का नाम है, जो दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर स्थित इक्वाडोर और पेरु देशों के तटीय समुद्री जल में कुछ सालों के अंतराल पर घटित होती है। यह समुद्र में होने वाली उथल-पुथल है और इससे समुद्र के सतही जल का ताप सामान्य से अधिक हो जाता है।
  • जब समुद्र का सतही जल ज्यादा गर्म होने लगता है तो वह सतह …

… (3223 more words) …

Question 13

Edit

Describe in Detail

Essay▾

जबकि अंग्रेज बागान-मालिकों ने असम से हिमाचल प्रदेश तक शिवालिक पर्वतमाला और निम्न हिमालय के साथ-साथ चाय बागान विकसित किए थे, परिणाम में वे दार्जिलिंग क्षेत्र से बाहर सफल नहीं हुए। स्पष्ट कीजिए।

Explanation

  • ब्रिटिश शासन के दौरान अंग्रेज बागान मालिकों ने असं से लेकर हिमाचल प्रदेश तक इसकी सम्पूर्ण पर्वतीय ढालो पर चाय के बाग़ानोंके विकास का प्रयास किया, लेकिन सही तथा पर्याप्त मात्रा में चाय का उत्पादन केवल दार्जिलिंग के आस-पास के क्षेत्र में ही प्राप्त हो सका। इसका कारण है कि चाय छाया प्रिय पौधा है, जो हल्की छाया में बड़ी तीव्रगति से बढ़ता है। इसके लिए मा…

… (7 more words) …

Question 14

Geography
Edit

Describe in Detail

Essay▾

उष्णकटिबंधीय चक्रवात अधिकांशतः दक्षिणी चीन सागर, बंगाल की खाड़ी और मैक्सिको की खाड़ी तक ही परिसीमित रहते है। ऐसा क्यों है?

Explanation

  • उष्णकटिबंधीय चक्रवात कम दबाव प्रणाली हैं जो उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों के समुद्र में महासागरों के ऊपर विकसित होते हैं। उष्णकटिबंधीय चक्रवात एक तूफान है जो विशाल निम्न दबाव केंद्र और भारी तड़ित-झंझावतों द्वारा चरितार्थ होता है और जो तीव्र हवाओं व घनघोर वर्षा की स्थिति उत्पन्न करता है।
  • उष्णकटिबंधीय चक्रवात की उत्पत्ति तब होती है जब नम हव…

… (2083 more words) …