Geography [IAS (Admin.) IAS Mains GS Paper 1 in Hindi (Geography, Art & Culture, and History)]: Questions 1 - 7 of 524

Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 640 questions. Access all new questions- tracking exam pattern and syllabus. View the complete topic-wise distribution of questions. Unlimited Access, Unlimited Time, on Unlimited Devices!

View Sample Explanation or View Features.

Rs. 750.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

Question 1

Geography
Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

भारत के पूर्वी तट पर हाल में आये चक्रवात को ‘फ़ाइलिन’ कहा गया | संसार में उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को कैसे नाम दिया जाता है? विस्तार से बताइए |

Explanation

भारत के पूर्वी तट पर आये तूफानी चक्रवात को फाइलिन नाम दिया गया था| चक्रवात के साथ जुड़े तकनीकी शब्दों को याद करने के बजाय चक्रवात की उत्पत्ति की पहचान करना आसान बनाने के उद्देश्य से चक्रवात नामकरण की प्रक्रिया कुछ साल पहले शुरू हुई थी। यह चक्रवात, यानी अक्षांश और देशांतर आदि की पहचान करने के पुराने जमाने के तरीकों से अधिक सटीक साबित हुआ, जो कि अधिक…

… (3 more words) …

Question 2

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

मौसम-विज्ञान में ‘तापमान व्युत्क्रम’ की घटना से आप क्या समझते है? उस स्थान के मौसम तथा निवासियों को यह कैसे प्रभावित करता है?

Explanation

सामान्य परिस्थितियों में ऊंचाई साथ तापमान घटता है | साधारणतः 165 मी. की ऊंचाई पर 1 डिग्री सेल्शियस तापमान काम होता है | जिसे सामान्य ह्रास दर कहते है | परन्तु कुछ परिस्थितियो में ऊंचाई साथ तापमान घटने के स्थान पर बढ़ता है | उचाई के साथ तापमान बढ़ने को ताप व्युत्क्रम कहते है | स्पष्ट हैं कि तापमान व्युत्क्रमण की स्थिति में धरातल के समीप ठंढी वायु तथा …

… (10 more words) …

Question 3

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

पश्चिमी घाट की तुलना में हिमालय में भूस्खलन की घटना के प्रायः होते रहने के कारण बताइए |

Explanation

  • भूस्खलन एक भूवैज्ञानिक घटना है। धरातली हलचलों जैसे पत्थर खिसकना या गिरना, पथरीली मिटटी का बहाव, इत्यादि इसके अंतर्गत आते है।भू-स्खलन कई प्रकार के हो सकते हैं और इसमें चट्टान के छोटे-छोटे पत्थरों के गिरने से लेकर बहुत अधिक मात्रा में चट्टान के टुकड़े और मिटटी का बहाव शामिल हो सकता है तथा इसका विस्तार कई किलोमीटर की दूरी तक हो सकता है। भारी बर्षा तथा…

… (6 more words) …

Question 4

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

यह कहा जाता है कि भारत में देश की 25 वर्ष की आवश्यकता-पूर्ति के लिए शैल-तेल और गैस का पर्याप्त भंडार है तथापि कार्यसूची में सम्पति के निकासी उच्च स्थान पर नजर नहीं आती। इसकी पर्याप्तता तथा आवेष्टित समस्याओं की समालोचनात्मक विवेचना कीजिए।

Explanation

  • परम्परागत ऊर्जा स्रोतों में निरंतर कमी के कारण वैकल्पिक ऊर्जा की खोज की जा रही है। इसी कड़ी में पेट्रोलियम की जगह शैल तेल और गैस की ओर दृष्टि गयी है | शैल तेल और गैस अवसादी चट्टानों के मध्य पायी जाती है। भारत में उत्तर पूर्व तथा गोंडवाना चट्टानों में शेल गैस की प्रचुर संभावना विद्यमान है। शैल गैस के उत्खनन के लिए भारत में भारतीय गैस प्राधिकरण लिमिटे…

… (3 more words) …

Question 5

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

संसार के शहरी निवास-स्थानों में ताप-द्धीप के बनने के क्या कारण है, बताइए |

Explanation

शहरी ताप-द्वीप समूह (UHI-Urban Heat Island) मानवीय गतिविधियों के कारण इसके आसपास के ग्रामीण इलाकों की तुलना में काफी गर्म शहरी क्षेत्रों में हैं। 1810 ई. में ल्यूक हावर्ड ने सबसे पहले शहरी निवास स्थानों में ताप-द्वीप के निर्माण सम्बंधित विचार को स्पष्ट किया था | शहरी ताप द्वीप तेजी से शहरीकरण के साथ जुड़ी एक बड़ी समस्या है। यूएचआई प्रभाव मुख्यतः जम…

… (5 more words) …

Question 6

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

‘महाद्वीपीय विस्थापन’ के सिद्धांत से आप क्या समझते है? इसके प्रमुख साक्ष्यों की विवेचना कीजिए |

Explanation

  • सर्वप्रथम वेगनर ने महद्वीपीय विस्थापन को एक सिद्धांत के रूप में रखा तथा इसके समर्थन में कई साक्ष्य प्रस्तुत किया | वेगनर ने विश्व के विभिन्न भागो में हुए जलवायु परिवर्तन को महाद्वीपीय सिद्धांत द्वारा स्पष्ट करने का प्रयास किया | उसके अनुसार कार्बोनिफेरस युग में विश्व के सभी महाद्वीप आपस में जुड़े हुए थे तथा एक महान स्थलखंड पैंजिया के रूप में विद्मान…

… (2224 more words) …

Question 7

Edit

Appeared in Year: 2013

Describe in Detail

Essay▾

उत्तरी गोलार्द्ध में मुख्यतः गर्म मरुभूमि 20 - 30 डिग्री उत्तरी अक्षांश पर और महाद्वीपों के पश्चिम की ओर स्थित है | क्यों?

Explanation

पृथ्वी के वायुमंडल में वायु निरंतर रूप से गतिशील रहती है। वायु के बहाव में सूर्य की मुख्य भूमिका होती है। वायु का भूमंडलीय स्तर पर बहाव वायुमंडल को गतिशील करता है जिसके कारण भूमध्यरेखा के निकटवर्ती स्थानों से गर्म वायु ऊंचे स्थानों की और बहती है जबकि ठंडी वायु वापस उष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों में आ जाती है।

अधिकांश अध्रुवीय रेगिस्तान दो व्यापारिक पवनों …

… (3476 more words) …