Writing Essay (IAS (Admin.) IAS Mains Compulsory-Hindi): Questions 1 - 16 of 53

Get 1 year subscription: Access detailed explanations (illustrated with images and videos) to 199 questions. Access all new questions we will add tracking exam-pattern and syllabus changes. View Sample Explanation or View Features.

Rs. 400.00 or

Question number: 1

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (National Rural Health Mission)

Explanation

प्रस्तावना

अच्छे स्वास्थ्य के बिना दुनिया के सुख-चैन, धन-दौलत किसी काम के नहीं होते। यदि व्यक्ति किसी लौकिक आनन्द का भोग करना चाहता है तो इसकी प्रथम शर्त यह है कि वह बिल्कुल स्वस्थ हो। इसलिए कहा गया है - ‘हेल्थ इज वेल्थ’ अर्थात् ‘स्वास्थ्य ही सम्पत्ति’ है। अत: यदि कोई देश वास्तविक रूप से अपनी तीव्र प्रगति चाहता है तो इसके लिए यह आवश्यक है कि व

… (7393 more words) …

Question number: 2

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

भारत में भ्रष्टाचार (Corruption in India)

Explanation

प्रस्तावना

भ्रष्टाचार दो शब्दों भ्रष्ट और आचार के मेल बना शब्द है। ‘भ्रष्ट’ शब्द के कई अर्थ होते है - मार्ग से विचलित, ध्वस्त एवं बुरे आचरण वाला तथा ‘आचरण’ का अर्थ है - चरित्र, व्यवहार एवं चाल-चलन। इस तरह भ्रष्टाचार का अर्थ हुआ - अनुचित व्यवहार एवं चाल-चलन। विस्तृत अर्थों में इसका तात्पर्य व्यक्ति द्वारा किए जाने वाले ऐसे अनुचित कार्य से है, ज

… (7608 more words) …

Question number: 3

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

कन्या भ्रूण हत्या: एक अभिशाप (Girl Foetal Death: A curse)

Explanation

प्रस्तावना

प्रकृति की हर वस्तु एवं प्राणी में स्वाभाविक संतुलन देखा जाता है, किन्तु मानव ने प्रकृति के दोहर की आदत के फलस्वरूप अपने स्वार्थ के लिए इस संतुलन को बिगाड़ने का कार्य किया है। इससे न केवल औद्योगिक विकास के लिए पर्यावरण का दोहन कर प्राकृतिक संतुलन को बिगाड़ा है, बल्कि स्त्रियों के साथ अन्याय कर स्त्री-पुरूष के लिंगानुपात को भी घटाने का

… (7750 more words) …

Question number: 4

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

मेरे सपनों का भारत (India of my Dreams)

Explanation

प्रस्तावना

भारत दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है, जहाँ प्राकृतिक विविधता तो देखने को मिलती ही है, भाषा, रहन-सहन इत्यादि में भी विविधता दिखाई पड़ती है। भारत के परिप्रेक्ष्य में प्रचलित है कि यहाँ निश्चित दूरी के बाद बोली बदल जाती है। यही कारण है कि इसे दुनिया का एक अनोखा देश कहा गया है। हालांकि हाल के वर्षों में भारत में कई प्रकार की समस्याओं ने अपन

… (6069 more words) …

Question number: 5

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

दुर्गा पूजा (Durga Puja)

Explanation

प्रस्तावना

भारत को त्यौहारों का देश कहा जाता है। अनेक धर्मों एवं जातियों के लोग रहते हैं और सबके अपने-अपने त्यौहार हैं। इस दृष्टिकोण से देखा जाए तो भारत में हर महीने किसी न किसी त्यौहार की धूम रहती है, किन्तु दुर्गा पूजा हिन्दुओं का एक ऐसा त्यौहार है, जिसकी धूम पूरे दस दिनों तक रहती है और इन दस दिनों के दौरान पूरा भारत भक्ति-रस में डूबा नजर आत

… (5732 more words) …

Question number: 6

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

आम चुनाव (General Elections)

Explanation

प्रस्तावना

‘चुनाव जनता को राजनीतिक शिक्षा देने का विश्वविद्यालय है’। मानव समुदाय एवं शासन व्यवस्था की अवधारणाओं पर गौर करने से यह स्पष्ट हो जाता है कि पण्डित जवाहर लाल नेहरू का यह कथन बिल्कुल सही है। सभ्यता के विकास के साथ ही मानव समुदाय के लिए प्रशासनिक व्यवस्था की शुरूआत हुई। प्रारम्भ से शासन व्यवस्था के रूप में राजतंत्र की प्रमुखता थी। शक्त

… (8752 more words) …

Question number: 7

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

मानवाधिकार (Human Rights)

Explanation

प्रस्तावना

मानवाधिकार वे मूलभूत अधिकार है, जिनका उपभोग करने के लिए प्रत्येक नागरिक अधिकृत है। जीवन का अधिकार, शिक्षा का अधिकार, जीविकोपार्जन का अधिकार, वैचारिक स्वतंत्रता का अधिकार, समानता का अधिकार, धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार जैसे मूलभूत अधिकार मानवाधिकार के ही अन्तर्गत आते है। विश्व के अधिकांश देशों में ये अधिकार संविधान द्वारा नागरिकों को

… (7108 more words) …

Question number: 8

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

स्वच्छता अभियान (Swachta Abhiyan)

Explanation

प्रस्तावना

समय के साथ जीवन बदलता गया है। अमीबा से मल्टीसेल प्राणी, फिर आदिमानव तक। ये विकास की कड़ियाँ है। इस विकास में सभ्यता, संस्कृति और सफाई आती है। आदिमानव से हम मानव और फिर सुसंस्कृत समाज में रहने वाले नागरिक बने। सब ठीक चलता रहा, लेकिन हमारी कुछ आतें खराब से बहुत खराब होती चली गई। जैसे गन्दगी। सफाई की संस्कृति कहीं पीछे छूट गई। जहाँ से ज

… (9037 more words) …

Question number: 9

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

विज्ञान की देन - टेस्ट ट्यूब बेबी (Gift of Science - Test Tube Baby)

Explanation

प्रस्तावना

विज्ञान की सहायता से मनुष्य ने केवल तीव्र गति ही हासिल नहीं की, बल्कि अपने जीवन की अनेक जटिल समस्याओं के हल भी निकाले हैं। सन्तान-हीनता पहले एक ऐसी समस्या थी, जिसका समाधान सम्भव ही नहीं था। इससे होता यह था कि दुनिया भर के लाखों दम्पत्ति सन्तानहीन रह जाते थे, लेकिन अब इस समस्या का हल निकाला जा चुका है। दरअसल, ऐसी समस्या के समाधान के

… (7597 more words) …

Question number: 10

» Writing Essay

Essay Question▾

Describe in Detail

पर्यटन स्थल (Tourist Places)

Explanation

प्रस्तावना

शिक्षा के प्रसार में लोगों में विश्व के अलग-अलग हिस्सों में जाकर वहाँ की जानकारी एकत्र करने की प्रबल इच्छा पैदा की है। नए अनुभव एवं ज्ञान तो कारण हैं ही, साथ ही हवाई परिवहन में प्रगति एवं पर्यटक सुविधाओं में विकास ने भी सीमाओं से बाहर निकलकर विचरण करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया है। विशेष रूप से दूरस्थ एवं पिछड़े क्षेत्रों में

… (7389 more words) …

Question number: 11

» Writing Essay

Appeared in Year: 2011

Essay Question▾

Describe in Detail

सबके लिए भोजन: हमारी प्रजातांत्रिक प्रणाली के लिए एक चुनौती

Explanation

प्रस्तावना - शब्द ग्रीक भाषा से अवतरित अंग्रेजी शब्द डेमोक्रेसी का हिन्दी रूपान्तर है, जिसका अर्थ होता है प्रजा अर्थात् जनता द्वारा परिचालित शासन व्यवस्था। मानव सभ्यता में जैसे-जैसे प्रगति हुई, लोग इस शासन व्यवस्था के विकल्प ढूंढने लगे। अन्तत: शासन व्यवस्था एक व्यक्ति के हाथ में न रहकर सम्पूर्ण जनता के हाथ में रहे, ऐसी व्यवस्था की गई। इस व्यवस्थ

… (3430 more words) …

Question number: 12

» Writing Essay

Appeared in Year: 2008

Essay Question▾

Describe in Detail

शिक्षा द्वारा महिलाओं का सशक्तिकरण।

Explanation

प्रस्तावना - कहा जाता है, यदि एक पुरूष शिक्षित होता है, तो केवल वही शिक्षित होता है, किन्तु एक स्त्री शिक्षित होती है, तो पूरा परिवार शिक्षित होता है। इससे स्त्री शिक्षा के महत्व का अनुमान लगाया जा सकता है। अब स्त्री शिक्षा के बड़े लम्बे डग भरे हैं और आज विश्वविद्यालयों के कई विभागों और सम्भागों में युवकों की अपेक्षा युवतियाँ अधिक दिखाई देती है।

… (2854 more words) …

Question number: 13

» Writing Essay

Appeared in Year: 2008

Essay Question▾

Describe in Detail

भारतीय सशस्त सेनाओं में अधिकारियों की कमी

Explanation

प्रस्तावना - हमारे देश में भारतीय सशस्त सेनाओं में अधिकारी की कमी है, क्योंकि इसका कारण भ्रष्टाचार। इसमें व्यक्ति प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से व्यक्तिगत लाभ के लिए निर्धारित कर्तव्य की जानबूझकर अवहेलना करता है। रिश्वत लेना-देना, खाद्य पदार्थों में मिलावट, मुनाफाखोरी, कानूनों की अवहेलना करके अपना उल्लू सीधा करना आदि भ्रष्टाचार के ऐसे रूप हैं, ज

… (2619 more words) …

Question number: 14

» Writing Essay

Appeared in Year: 2012

Essay Question▾

Describe in Detail

भारत में व्यावसायिक शिक्षा

Explanation

प्रस्तावना - शिक्षा जीवन भर चलने वाली एक प्रक्रिया है। यह एक व्यक्ति के सम्पर्ण विकास में सहायक होती है। शिक्षा का उद्देश्य इसके द्वारा लोगों की आर्थिक स्थिति में निरन्तर विकास एवं उनके जीवन स्तर में विकास कर समाज में सुख-शान्ति स्थापित करना है। इस दृष्टिकोण से शिक्षा को रोजगारोन्मुखी बनाना अनिवार्य है। इसके लिए व्यावसायिक शिक्षा पर जोर दिया जा

… (2829 more words) …

Question number: 15

» Writing Essay

Appeared in Year: 2013

Essay Question▾

Describe in Detail

हम अपने कर्मों से जीते है, ना कि सालों में

Explanation

प्रस्तावना - कहा गया है कि कर्म ही जीवन है। कर्म के अभाव में जीवन का कोई अर्थ नहीं रह जाता। जीवनपर्यन्त मनुष्य को कोई न कोई कर्म करते रहना पड़ता है। यही कारण है कि प्राचीन ही नहीं आधुनिक विश्व साहित्य में भी श्रम की महिमा का बखान किया गया है। जीवन में सफलता प्राप्ति के लिए कर्म अनिवार्य है। इसलिए कहा गया है कि - ‘परिश्रम ही सफलता की कुँजी है’। कर

… (3168 more words) …

Question number: 16

» Writing Essay

Appeared in Year: 2008

Essay Question▾

Describe in Detail

भारत में कारोबार - प्रबन्ध संस्थानों की संवृद्धि

Explanation

प्रस्तावना - भारत में अर्थव्यवस्था में सुधार हेतु उद्योगों की स्थापना एवं उनका विकास। औद्योगिकीकरण एक सामाजिक तथा आर्थिक प्रक्रिया है, जिसमें उद्योग धन्धों की बहुलता होती है। औद्योगिकीकरण के कारण शहरीकरण को बढ़ावा मिलता है। दूसरी तरफ अनेक प्रकार की संस्थाएँ है, जिसमें बहुत विकास हो रहा है, जैसे नारायण सेवा संस्थान, दिशा संस्थान, सर्व शिक्षा अभिया

… (3489 more words) …

f Page
Sign In