Subscribe now to access pointwise, categorized & easy to understand notes on 133 key topics of CTET Paper-I Hindi covering entire 2017 syllabus. All the updates for one year are also included. View Features or .

Rs. 200.00 or

उच्चारण संबंधी दोषों के विभिन्न प्रकार (Types of Pronunciation Related Defects)

स्वर-लोप यथा ‘क्षत्रिय’ का ‘छत्री‘, ‘परमात्मा‘, का ‘प्रमात्मा‘, ‘ईश्वर’ का ‘इस्सर’।

स्वर-भक्ति यथा ‘बृजेन्द्र‘ को बढ़ाकर ‘बरजेन्दर‘, ‘श्री‘ को ‘सिरी‘, ‘शक्ति‘ को ‘सकती’।

स्वरागम यथा ‘स्नान‘ में ‘अ‘ का आगम होकर ‘अस्नान‘, ‘स्कूल‘ में ‘इ‘ ‘इस्कूल’।

ऋ का अशुद्ध उच्चारण यथा ‘अमृत‘ का ‘अम्रित‘, पंजाब में ‘अम्रत‘, मराठी में ‘अम्रत’।

इ, उ का ई, ऊ के साथ भ्रम यथा ‘कवि‘ का ‘कवी‘, ‘हिन्दू‘ का ‘हिन्दु‘, ‘ईश्वर‘ का ‘ईसवर‘, ‘किन्तु‘ का ‘किन्तू’।

न और ण का भ्रम यथा ‘रणभूमि‘ का ‘रनभूमि‘, ‘प्रणय‘ का ‘प्रनय‘, ‘कर्ण‘ का ‘करन’ आदि।

क्ष और छ का झमेला यथा ‘लक्ष्मण‘ को ‘लछमन‘, ‘अक्षर‘ का ‘अछर‘, ‘क्षत्री‘… (206 more words) …

Subscribe & login to view complete study material.

f Page
Sign In