CTET (Central Teacher Eligibility Test) Paper-I Hindi Pedagogy of Language Development-Language Skills Study Material (Page 1 of 16)

Subscribe now to access pointwise, categorized & easy to understand notes on 133 notes of CTET (Central Teacher Eligibility Test) Paper-I Hindi covering entire 2022-2023 syllabus. With online notes get latest & updated content on the device of your choice. View complete topic-wise distribution of study material. 3 Year Validity- Access Unlimited Times on Unlimited Devices.

View Features or View Sample.

Rs. 300.00 -OR-

How to register? Already Subscribed?

भाषा कौशल के प्रकार (Types of Language Skills)

Edit

1. श्रवण कौशल (सुनकर अर्थ ग्रहण करने का कौशल)

2. पठन/वाचन कौशल (पढ़कर अर्थ ग्रहण करने का कौशल)

3. मौखिक अभिव्यक्ति कौशल (विचारों को बोलकर व्यक्त करने का कौशल)

4. लेखन कौशल (विचारों को लिखकर व्यक्त करने का कौशल)

  • भाषा शिक्षण का संबंध केवल ज्ञान प्रदान करना या सूचनाएँ प्रदान करना मात्र नहीं बल्कि भाषा सीखने वालों को उपरोक्त चारों कौशलों में दक्ष बनाना है।
  • प्रथम दो कौशल ग्राह्यात्मक कौशल तथा अगले दो कौशल अभिव्यंजनात्मक कौशल कहे जाते हैं।
Use the above buttons to track progress on topic list page

श्रवण कौशल का अर्थ (Meaning of Listening Skill)

Edit
  • भाषा श्रवण का संबंध ‘कर्ण’ से है। शब्द का अर्थ सामाजिक प्रसंग में सुनने से ग्रहण किया जाता है। छात्र कविता, कहानी, भाषण वाद-विवाद, वार्तालाप आदि का ज्ञान सुनकर ही प्राप्त करता है और उसका अर्थ भी ग्रहण करता है।
  • यदि छात्र की श्रवण इन्द्रियों में दोष है, तो वह न भाषा सीख सकता है और न अपने मनोभावों को अभिव्यक्त कर सकता है। अत: उसका भाषा ज्ञान शून्य के बराबर ही रहेगा। बालक सुनकर ही अनुकरण द्वारा भाषा ज्ञान अर्जित करता है।
Use the above buttons to track progress on topic list page