CTET (Central Teacher Eligibility Test) Paper-I Hindi Pedagogy of Language Development-Grammar Revision (Page 7 of 7)

Subscribe now to access pointwise, categorized & easy to understand notes on 133 key topics of CTET (Central Teacher Eligibility Test) Paper-I Hindi covering entire 2018 syllabus. All the updates for one year are also included. View Features or choose a topic to view more samples.

Rs. 200.00 or

सम्प्रेषण कौशल के विकास में व्याकरण व महत्व (Importance of Grammar in Development of Communication Skill)

  • व्याकरण बालकों के अशुद्ध उच्चारण को शुद्ध करने में सहायक है।
  • व्याकरण शुद्ध एवं सही वाचन का अभ्यास कराने में सहायक है।
  • यह बालकों की अभिव्यक्ति में स्पष्टता लाने में सहायक है।
  • यह बालकों की सृजनात्मक कौशल का विकास करने में सहायक है।
  • यह बालकों में ऐसी क्षमता पैदा करने में सहायक है, जिससे कि वे अपने भावों को शुद्धतापूर्वक व्यक्त कर सकें।
  • यह बालकों में ऐसी क्षमता का विकास करने में सहायक है, जिससे कि वे पूछे गए प्रश्नों का उत्तर प्रवाहपूर्ण तरीके से दे सकें।
  • यह बालकों को साधारण वार्तालाप मे

… (658 more words) …

Subscribe & login to view complete study material.

लेखन कौशल के विकास में व्याकरण का महत्व (Importance of Grammar in Development of Writing Skill)

  • यह बच्चों को पढ़ी या सुनी हुई बातों को शुद्ध वर्तनी तथा विराम चिन्हों का सही प्रयोग करते हुए लेखन कौशल का विकास करने में सहायक है।
  • यह बच्चों के लेखन में संज्ञा, सर्वनाम, क्रिया, विश्लेषण, प्रत्यय, उपसर्ग, तत्सम शब्द, तद्भव शब्द आदि के प्रयोग से उनके लेखन कौशल में विकास करने में सहायक है।
  • यह बच्चों में विभिन्न संदर्भ शब्दों की समक्ष पैदान करने में सहायक है।
  • यह बच्चों की लेखन शैली में मुहावरों का प्रयोग करने का शिक्षण देकर उनके लेखन कौशल में विकास करने में सहायक है।
  • यह बच्चों को लेखन क

… (614 more words) …

Subscribe & login to view complete study material.

f Page
Sign In